Hair Solution

हर कोई आज बाल झड़ने (HairFall) की समस्या से परेशान है। यह समस्या सबके साथ है। चाहे वह महिला हो या पुरुष। चाहे वह किसी भी आयु वर्ग के हों। सभी को यह डर बना रहता है कि उनके गिरते बाल कहीं उन्हें गंजा न बना दे।

हर्बल भारत के विशेषज्ञ कहते हैं आम तौर पर लोगों में यह धारणा होती है कि सिर के बाल गिरना या गंजापन वंशानुगत (Generational Issue) बीमारी होती है, लेकिन यह धारणा गलत है। आज से करीब 15-20 बरस पहले बालों के अत्याधिक गिरने या गंजेपन का उपचार करवाने वालों में लगभग 90 फीसदी से अधिक पुरुष थे लेकिन, मौजूदा समय में HairFall का उपचार करवाने वाली महिलाओं की संख्या भी पुरुषों के बराबर हो रही है। करीब 60 प्रतिशत महिलाएं ऐसी है जो हेयर फाल HairFall यानी बाल गिरने की समस्या से ग्रसित हैं। इस समस्या से मुक्ति पाने के लिए डर्मेटोलॉजिस्ट या त्वचा रोग विशेषज्ञों के पास जाती हैं।

हर्बल भारत के विशेषज्ञों के अनुसार HairFall का मुख्य कारण है

अनियमित दिनचर्या
आर्गेनिक वस्तुओं की बजाय सेंथेटिक या रसायनयुक्त ऑयल या सौंर्दय प्रसाधनों का प्रयोग करना
फास्टफूड का अधिक सेवन करना
कम कैलोरी वाले आहार
लंबे समय तक डायटिंग
कलरिंग
फ्रस्टेशन
 ब्लोड्राय आदि मुख्य कारण हो सकते हैं

हर्बल भारत के विशेषज्ञों की मानें तो महिलाओं के बाल कम या अधिक मात्रा में झड़ते रहते हैं लेकिन, धीरे-धीरे महिलाओं के बाल पतले होने लगते हैं।
इसके अलावा बहुत सी महिलाओं में बचान से बाल बहुत अधिक गिरने लगते हैं। महिलाओं के बाल कमजोर होने या गिरने के मुख्य कारण 1800 कैलोरी से कम डायट लेना है। इसे अलावा कई तरह बीमारियां भी बालों को नुकसान पहुंचाती हैं:

  • जैसे मलेरिया
  • चिकनगुनिया
  • डेंगू
  • टायफाइड आदि बालों की तंदुरुस्ती को नुकसान पहुंचाती हैं
  • इसके अलावा शरीर में आयरन और विटामिन बी 12 और विटामिन डी की कमी भी इसके लिए जिम्मेदार है।

विशेषज्ञों के मुताबिक बालों के गिरने या दो मुहें व अत्याधिक पतले होने के कारण महिलाएं मानसिक रूप से अत्याधिक परेशान होती हैं। बालों के गिरने, दो मुहें होने से रोकने के लिए भोजन में

  • जिंक
  • बायोटिन
  • आयरन
  • अमीनो एसिड जैसे पोषक तत्वों को अवश्य सामिल करें।

साथ ही रासायिनक या सेंथेटिक प्रसाधनों की जगह हर्बल वस्तुओं का प्रयोग करना चाहिए।

Shopping Cart