herbal bharat

क्या आप बवासीर / भगन्दर / फिशर से पीड़ित हैं ?

हमारे विशेषज्ञों से मुफ्त सलाह लें

Welcome to Herbal Bharat™ Ayurvedic

पाइल्स – फिस्टुला – फिशर का बिना ऑपरेशन जड़ से इलाज मात्र 1699 रुपए में

99,532 Ratings
4.8/5

99.8% of customers would recommend this to a friend

  •  क्लीनिक एवं ऑनलाइन परामर्श की सुविधा
  •  *1699 रुपए में 30 दिन की दवा
  •  3 Month Course*(T&C Apply)
  •  खूनी एवं बादी बवासीर का इलाज
  •  मस्सों का इलाज
  •  पस आने का इलाज
  •  कब्ज का इलाज
  •  दवाओं की फ्री होम डिलीवरी (पूरे भारत में )
  •  दवाओं की पूर्णतः गोपनीय डिलीवरी
  •  फ्री डाइट चार्ट
  •  75,654 से ज्यादा संतुष्ट मरीज
  •  We are Online, Call us now…

Treat Your Piles Before It Becomes Chronic

herbal bharat piles care

हम किन रोगों का इलाज करते हैं?

herbal bharat piles care

✅ Piles (बवासीर )

मल द्वार पर मस्से होना, मल द्वार पर सूजन आना, मल के साथ खून आना

✅ Fistula (भगन्दर )

मल के साथ पस / मवाद / रक्त का आना, मल त्याग के समय दर्द एवं जलन का होना , मल द्वार पर सूजन आना

✅ Fissure (फिशर)

मॉल द्वार पर कट लग जाना एवं एवं जलन / खुजली का होना

✅ Constipation (कब्ज )

पेट का साफ़ नहीं होना, खट्टी डकार आना, बार बार सौंच जाने की इच्छा

✅ Colitis (कोलाइटिस)

बड़ी आंत में सूजन, मल के साथ चिपचिपा निकलना

✅ हमारे विशेषज्ञ ऑनलाइन हैं ... अभी कॉल करें...

Best Treatment for Piles Fistula Fissure

How our treatment works?

  • Step 1 : ऊपर दिए गए नंबर पर हमारे विशेषज्ञों से सम्पर्क करें।
  • Step 2 : हमारे विशेषज्ञ आपके मर्ज की पूर्ण जानकारी लेंगे एवं दवाओं की होम डिलीवरी के लिए आपका पता लेंगे।
  • Step 3 : आपके मर्ज के आधार पर उचित दवाओं का चयन करके आपको कूरियर किया जायेगा।
  • Step 4 : दवा डिलीवर होने के बाद हमारी टीम आपसे संपर्क करेगी एवं दवा समझायी जाएगी।
  • Step 5 : आपके इलाज के दौरान हमारी टीम आपको समय समय पर काल करती रहेगी।
  • Step 6 : इलाज के दौरान किसी भी समस्या के लिए आप हमारे डॉक्टर्स के साथ अपॉइंटमेंट ले सकते हैं ।
  •  We are Online, Call us now…

Why Choose Herbal Bharat™ Ayurvedic for Treatment?

⭕ Complete Privacy

आपके द्वारा दी गयी समस्त जानकारी पूर्णतः गुप्त रखी जाएगी

⭕ Home Delivery

आपकी दवाएं एक विशेष बॉक्स में रखकर आपके घर तक डिलीवर करायी जाएँगी

⭕ Complete Treatment

बवासीर / भगंदर का इलाज होमियोपैथी पद्धति में जड़ से होता है

⭕ Online / Clinic Consultation

इलाज के दौरान आप हमारी क्लिनिक पर भी आकर डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं एवं ऑनलाइन सलाह भी ले सकते हैं

✅ हमारे विशेषज्ञ ऑनलाइन हैं ... अभी कॉल करें...

बवासीर क्या है ?

एवं बवासीर का इलाज क्या है ?
  • पाइल्स – जिसे बवासीर भी कहा जाता है, गुदा के टर्मिनल हिस्से में सूजन वाली नसें हैं।

    •  50 वर्ष की आयु तक 75% जनसंख्या को प्रभावित करता है
    •  गर्भावस्था में सामान्य रूप से देखा जाता है
    •  आंतरिक या बाहरी हो सकता है
    •  इसके लक्षण – मल त्याग के बाद खून आना या या मल के साथ खून आना
    •  कभी-कभी रक्त गुदा के आस-पास क्लॉट कर जाता है जिससे बाहरी बवासीर होता है
    •  ज्यादातर यह लक्षण प्रकट होने से पहले ही अपने आप ठीक हो जाता है
    •  पुरानी कब्ज, कठिन मल त्याग के कारण

✅ हमारे विशेषज्ञ ऑनलाइन हैं ... अभी कॉल करें...

Hemorrhoids also called piles, are swollen and inflamed veins in the rectum resulting from straining during bowel movements. Hemorrhoids are located inside the rectum (internal hemorrhoids) or they may develop under the skin around the anus (external hemorrhoids).

Internal hemorrhoids by straining or irritation when passing stool can damage the delicate surface and cause it to bleed. Occasionally straining can push an internal hemorrhoid through the anal opening. this is called PROTRUDING or PROLAPSED HEMORRHOIDS and can cause pain and irritation.

External hemorrhoids are under the skin around anus when irritated external hemorrhoids can itch and bleed sometimes blood may pool in an external hemorrhoids and form a clot (thrombus) resulting in severe pain, swelling and inflammation.

By the age of 40 -50 about half of the adults have had to deal with the itching, discomfort and bleeding that can cause of hemorrhoids.

Sign and Symptoms :

  •  Pain or discomfort.
  •  Itching or irritation in anal region.
  •  Swelling around anus.
  •  Painless bleeding during bowel movement you might notice a small amount of bright red blood.
  •  A lump near anus ,which may be sensitive or painful.

Cause :

  •  Straining during bowel movement.
  •  Chronic diarrhea or constipation.
  •  Low fiber diet.
  •  Pregnancy
  •  Obesity
  •  Anal intercourse.

Physical Examination :

  •  P/R done in sim’ position.
  •  Anoscopy
  •  Proctosigmoidoscopy

Management :

  •  Eat high fiber food, eat more fruits, vegetables and whole grains.
  •  Drink plenty of fluids.
  •  Exercise and sitz bath.
  •  Avoid long periods of sitting.
  •  Go as soon as you feel the urge to pass the stool otherwise if the urge goes away stool could become dry and be harder to pass.

फिशर क्या है ?

एवं फिशर का इलाज क्या है ?
  • फिशर – यह गुदा के चारों ओर एक कट या दरार है जो बहुत दर्दनाक होता है।

    •  कई बार जब आप शौच करने के लिए बहुत अधिक दबाव डालता हैं
    •  संक्रमित होने पर रक्त या मवाद आ सकता है
    •  कब्ज, दस्त, या भारी व्यायाम करने के कारण हो सकता है
    •  ज्यादातर 50 से ऊपर आयु समूहों को प्रभावित करता है
    •  तीव्र और क्रॉनिक दो रूपों में बाट सकते हैं
    •  फाइबर युक्त आहार और दवा से तीव्र फिशर को आसानी से ठीक किया जा सकता है
    •  क्रॉनिक को प्रबंधित करना मुश्किल है और पुनः हो सकता है

✅ हमारे विशेषज्ञ ऑनलाइन हैं ... अभी कॉल करें...

फिस्टुला (भगन्दर) क्या है ?

एवं फिस्टुला (भगन्दर) का इलाज क्या है ?
  • फिस्टुला – गुदा के मध्य भाग में गुदा ग्रंथियां होती हैं, जिनमें संक्रमण हो जाती हैं जिससे और गुदा पे फोड़ा हो जाता है, जिससे मवाद निकलने लगता है। फिस्टुला संक्रमित ग्रंथि को फोड़ा से जोड़ने वाला मार्ग है।

    •  यह रेडिएशन, कैंसर, वार्ट्स, ट्रामा, क्रोहन रोग आदि के कारण हो सकता है
    •  यह मोटापे और लंबे समय तक बैठने से भी जुड़ा हो सकता है
    •  मुहाने से मवाद आना, सूजन, दर्दनाक और लाल के रूप पहचाना जा सकता है
     

✅ हमारे विशेषज्ञ ऑनलाइन हैं ... अभी कॉल करें...

ANAL FISTULA

Anal fistula is an infected tunnel that connects an infected cavity in the anus,to an opening on the skin around the anus.there are glands present in anus get accumulated and gets infected leads to abscess.occasionally these abscess develop into fistula.

SIGN AND SYMPTOMS-

  1. Pain and swelling around the anus.

  2. Frequent anal abscess

  3. Painful bowel movements.

  4. Bleeding

  5. Fever

  6. Irritation of the skin around the anus.

  7. Pus sometimes with odor.

CAUSE

  1. Crohn’s disease

  2. Tuberculosis

  3. Diverticulitis

  4. Trauma to the anal region.

TYPES- PARK’S CLASSIFICATION

  1. INTER SPHINCTERIC FISTULA( most common)

  2. TRANS SPHINCTERIC FISTULA

  3. SUPRA SPHINCTERIC FISTULA

  4. EXTRA SPHINCTERIC FISTULA

1)    INTER SPHINCTERIC FISTULA-

Begin between the internal and external sphincter muscles,pass through the inter sphincter muscle,and open very close to the anus.

2)     TRANS SPHINCTERIC FISTULA-

Begin between the internal and external sphincter muscle or behind the anus cross the external sphincter muscle and open an inch or more away from the anus.these may take U – Shape and form multiple external opening.this is HORSE SHOE FISTULA.

3)      SUPRA SPHINCTERIC FISTULA-

Begin between the internal and external sphincteric muscles,extend to the entire sphincteric apparatus.

4)       EXTRA SPHICTERIC FISTULA-

Extends from a primary opening in the rectum,encompasses the entire sphincter apparatus and opens onto the skin overlying the buttock.

TEST-  Anoscopy 

HOMOEOPATHIC TREATMENT FOR FISTULA-

There are many homoeopathic medicines which do miraculous work on harmful diseases.By selecting best suitable medicine homoeopathy heals faster than any.in ano rectal fistula homoeopathy works on controlling the development and formation of abscess.it heals on tissue level.when tissue heals fluid collection and suppuration will stop ,then the opening is closed fistula get closed permanently.

    WeClinic™ Homeopathy KANPUR provides you best homoeopathic treatment for fistula.here you can consult to the best homoeopathic doctors online or by physical consultation.WeClinic™ Homeopathy KANPUR is treating 3000+ fistula cases per month.WeClinic™ Homeopathy always promise you to provide best homoeopathic treatment so that you can avoid unnecessary surgeries

Shopping Cart